Blog कैसे setup करें? Hosting क्या होती है?

ज़रूरी नहीं कि सारे अच्छे writers या bloggers technically भी अच्छे हों या फिर उन्हें वेबसाइट बनानी आती हो। बहुत सारे लेखक ऐसे होते हैं जो बेहतरीन लिखते हैं मगर technology या internet द्वारा अपना talent दर्शाना नहीं जानते। Blogging उसी talent को internet द्वारा पाठकों तक पहुंचाने का सर्वश्रेष्ठ माध्यम है। परंतु यदि आप technology में ज़्यादा रुचि नहीं रखते और अपना blog setup करना आपको बहुत कठिन लग रहा है तो हमने आपके लिए कुछ आसान steps ढूंढ कर इस chapter में दिए हैं, जिस में आपको किसी खास विस्तार में technology के बारे में जानकर होने की ज़रूरत नहीं है। 

पिछले chapters में हमने समझा की website और blog में क्या अंतर होता है। उसी अंतर के आधार पर हम कह सकते हैं कि blog setup करने का कार्य website बनाने के मुकाबले बहुत आसान है। Website बनाने के लिए सारी coding हमें करनी पड़ती है परन्तु blog के लिए हम खुद coding करने की कोई ज़रूरत नहीं है। इसको setup करने के लिए कुछ आसान से steps दिए गए हैं–

सही platform का चुनाव

जैसा हमने ऊपर पढ़ा की blog बनाने के liye खुद coding करने की आवश्यकता नहीं होती तो फिर blog setup करना का पहला कदम क्या होगा? पहला और सबसे महत्वूर्ण कार्य सही platform का चुनाव करना ही है। यह को platforms होते हैं जो आपको अपना ब्लॉग create, design, और marketing करने में भी सहायता करते हैं। इनमें से कुछ मुख्य निम्नलिखित हैं–

1. WordPress

यदि आप blogging की दुनिया में नए आएं हैं तो wordpress नाम के शब्द से आपका परिचय सबसे पहले हो गया होगा। यह blogging के लिए सबसे बड़ा platform है। WordPress पर ब्लॉग setup करने से पहले हमें केवल blog के नाम और domain name की ज़रूरत है, जो हम पिछले chapter में सीख चुके हैं। इसका प्रयोग करने के मुख्य लाभ यह है–

  • इसको इस्तेमाल करने का तरीका बहुत simple है, जिस में कोई खास जानकारी की ज़रूरत नहीं है
  • इसमें setup cost बिलकुल free है
  • बहुत सारे बने बनाए designs और themes में से हम अपने blog के लिए उपयुक्त design पसंद कर सकते हैं
  • अपने blog की आवश्यकता के अनुसार plugins install कर सकते हैं

2. Blogger

यह खुद google द्वारा own किया गया एक blogging platform है, जो छोटे एवं नए bloggers के लिए लाभदायक है क्योंकि इसके द्वारा installation में कोई ख़र्चा नहीं होता। इसका उपयोग करने के यह लाभ हैं–

  • यह गूगल का खुद का platform है इसलिए आप google के tools का आसानी से प्रयोग कर सकते हैं, जैसे google analytics, जिसके बारे में हम SEO कोर्स के एक chapter में पड़ेंगे।
  • यह भी बिलकुल free है, और इस्तेमाल करने में आसान है।
  • इसमें भी HTML का प्रयोग करके आप अपने तरीके से blog में परिवर्तन कर सकते हैं

3. Tumblr

यह blogging platform होने के साथ साथ एक social media platform भी hai। जैसे twitter पर लोग आपके tweets को पसंद करके retweet कर सकते हैं, उसी प्रकार tumblr पे आपके blog पर डाले गए कंटेंट को reblog कर सकते हैं। इसको इस्तेमाल करने के यह लाभ हैं–

  • यह छोटे bloggers की शुरुआत के लिए बहुत अच्छा विकल्प है, परंतु यदि आप कुछ बड़ा सोच रहें हैं तो यह आपके लिए नहीं है।
  • उसकी storage की क्षमता बहुत ज़्यादा है इसलिए आपके अनगिनत blogs का content भी आसानी से store किया जा सकता है।
  • कोडिंग language जैसे HTML के प्रयोग से आप इसमें अपने blog को अपने हिसाब से परिवर्तित कर सकते हैं

Customise करें

सही platform के चुनाव के बाद सही theme और design का चुनाव भी ज़रूरी है। गूगल के नज़रिए से तो यह चीजें महत्व नहीं रखती परंतु users को तो आपका blog आकर्षित लगना चाहिए। Content जितना भी अच्छा क्यों ना हो, यदि उसकी presentation अच्छी नहीं होगी, तो कोई उसको पढ़ने में दिलचस्पी नहीं रखेगा। इसलिए अपने niche के हिसाब से अपने blog के theme का चुनाव करें। WordPress में यह सब परिवर्तन करना हम आगे के chapters में विस्तार से सीखेंगे 

Post करें, अच्छा content लिखें

सारी designing के बाद अगला कार्य सबसे मुख्य भाग है, यानी content लिखना, जिस उद्देश्य से हमने blog setup किया है, उसके बारे में लिखना और post करना। जैसे हमने पिछले chapters में पढ़ा कि वही विषय चुने जिस पर आप खूब लिख सकते हैं, इसलिए अपने अंदर के लेखक के हुनर के जगाए और काम में जुट जाएं।


Hosting क्या होती है?

Blogging की दुनिया में hosting का मतलब अंग्रेज़ी के normal hosting शब्द से ही निकला है। Hosting एक host company का कार्य होता है जिसमें वह blogger को अपने content के लिए जगह एवं equipment देते हैं। Web hosting वो जगह है जहां पर सारी websites और उनका data संभला रहता है। 

Hosting provider के कार्य

  • आपके blog को store करता है
  • Hosting के माध्यम से ही आपका blog users तक पहुंचता है। 
  • कुछ बड़ी hosting companies blogging के लिए आपको software भी देती हैं
  • कुछ platforms, security के लिए SSL certificate भी देते हैं
  • कम दाम पर domain name भी मिल सकता है

Hosting providers

  • GoDaddy: यह site owners के लिए domain name से ले कर virtual servers provide करने तक, सारा काम आसान कर देता है। Owners को बहुत सारे control के विकल्प दिए जाते हैं, और समय समय पर updates आते हैं, जिनके आधार पर आपकी साइट grow करती रहेगी। इसके अतिरिक्त इस hosting provider ने अपनी customer care सुविधा पर भी बहुत काम किया है, जो users की दुविधाओं और security दोनों का ध्यान रखती है।
  • BlueHost: यह पहले साल के लिए users को free domain name देते हैं, और security के लिए SSL certificate भी देते हैं। विभिन्न prices के हिसाब से अलग अलग plans हैं जिनमें से user अपने site के लिए आदर्श plan का चुनाव कर सकता है। 
  • 1and1: यह site owner को बहुत सारे छोटे छोटे features की सुविधा देता है, परंतु वो बहुत लाभदायक होते हैं, जैसे spam से बचाव, daily backups, आदि। 
  • HostGator: domain name खरीदने के साथ साथ यह कम दाम पर hosting services देता है और अपने users को 24 घंटे technical सहायता देता है।
  • SiteGround: इसकी security सुविधा सबसे बेहतरीन है और यह ग्राहक को expert सुझाव देने के लिए जाने जाते हैं। Siteground के features ज़्यादा advanced हैं। 

Conclusion/सारांश

Blog setup करने की क्रिया समझने के बाद आप अब अपना blog बनाने के लिए बिलकुल तैयार हैं। सही hosting provider का चुनाव करें और content की quality को हमेशा सबसे उपर की तरजीह दें।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page.