10 Lines on Independence Day in Hindi

10 lines on independence day in hindi

स्वतंत्रता दिवस पर 10 लाइन (वाक्य)

15 अगस्त 1947 को हमारा प्यारा भारत देश आज़ाद हुआ था। इसी दिन भारतीय नागरिकों को ब्रिटिश हुकूमत से आज़ादी मिली थी। भारत देश को आज़ादी दिलाने में कई भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने प्राणों की बाजी लगा दी थी। तब जाकर भारतीय नागरिक आज़ाद देश के नागरिक कहलाए थे।

इसलिए भारतीय नागरिक हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाते हैं। ऐसे में आज हम स्कूली बच्चों के लिए स्वतंत्रता दिवस पर 10 लाइन हिंदी में लेकर आए हैं। ताकि उन्हें स्वतंत्रता दिवस मनाने को लेकर आवश्यक जानकारी प्राप्त हो सके।


10 Lines on Independence Day

  1. 15 अगस्त को भारत में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है।

  2. इस दिन दिल्ली के लाल किले पर देश के प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाता है।

  3. भारत देश को 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजों से आज़ादी प्राप्त हुई थी।

  4. स्वतंत्रता दिवस के दिन स्कूल, कॉलेजों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है। साथ ही टेलीविजन पर दिन भर देशभक्ति से जुड़े कार्यक्रम प्रसारित किए जाते हैं।

  5. इस दिन शिक्षण संस्थानों समेत सभी सरकारी और निजी कार्यालयों का अवकाश रहता है।

  6. स्वतंत्रता दिवस के एक दिन पहले देश के राष्ट्रपति देश को संबोधित करते हैं।

  7. स्वतंत्रता दिवस के दिन वीर शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को याद किया जाता है। जिनके सम्मान में 21 तोपों की सलामी भी दी जाती है। इस दिन देश की तीनों सेनाएं (थल, वायु, जल) लाल किले पर करतब और साहसिक कार्यों का प्रदर्शन करती हैं।

  8. राष्ट्रीय ध्वज को फहराने के पश्चात् राष्ट्र गान गया जाता है। और सभी निजी और सरकारी विभागों में मिठाई बांटी जाती है।

  9. लाल किले पर ध्वजारोहण के बाद राज्यों की ओर से विभिन्न सांस्कृतिक झांकियों का आयोजन किया जाता है। 

  10. स्वतंत्रता दिवस के दिन जगह जगह पर प्रभात फेरियों का आयोजन किया जाता है।

इस प्रकार, हमने अपने उपरोक्त लेख (10 lines on independence day in hindi) के माध्यम से आपको स्वतंत्रता दिवस से जुड़ी 10 लाइनों के बारे में बताया। उम्मीद है कि यह जानकारी आपको रोचक लगी होगी। इसी प्रकार की रोचक जानकारियों को पढ़ने के लिए Gurukul99 पर दुबारा आना ना भूलें।

– -यह भी पढ़े- –
स्वतंत्रता दिवस पर निबंध


अंशिका जौहरी

मेरा नाम अंशिका जौहरी है और मैंने पत्रकारिता में स्नातकोत्तर किया है। मुझे सामाजिक चेतना से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से लिखना और बोलना पसंद है।

Leave a New Comment