स्वतंत्रता दिवस पर निबंध – Independence Day Essay in Hindi

Swatantrata Diwas par Nibandh

भूमिका

स्वतंत्रता दिवस भारत के प्रमुख राष्ट्रीय त्योहारों में से एक है। यह त्यौहार हर वर्ष 15 अगस्त को देश भर में मनाया जाता है क्योंकि 15 अगस्त, 1947 को भारत अंग्रेजों के राज से आज़ाद हो कर एक स्वतंत्र देश बना था। अंग्रेजों से इस आज़ादी के उल्लास में देश भर में इस दिन राष्ट्रीय छुट्टी होती है और विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है।


ऐतिहासिक महत्व

माना जाता है कि अंग्रेजों ने भारत पर करीब दो सौ साल तक राज किया जिस दौरान उन्होंने भारत से सोने की चिड़िया का पद छीन लिया और भारत वासियों को गुलाम बना कर अपने लाभ के लिए काम करवाया। अंग्रेजों ने भारतीय राज्यों के राजाओं के बीच में फूट डालो और शासन करो वाला सिद्धांत लगा कर बहुत देर तक राज किया।

इस कारण वश बहुत सारे आज़ादी क्रांतिकारियों ने निस्वार्थ प्रयत्न किए जिसमें से कुछ प्रमुख सेनानी झांसी की रानी, भगत सिंह, सरदार पटेल, लाला लाजपत राय आदि का नाम स्वतंत्रता की लड़ाई के योगदान में सुनहरे अक्षरों में लिखा गया।

इन सब स्वतंत्रता सेनानियों की निस्वार्थ शहीदी के बाद अंत में भारत 15 अगस्त, 1947 को स्वतंत्र हो गया और महात्मा गांधी को उनके अहिंसिक स्वतंत्रता संघर्ष के लिए राष्ट्र पिता का पद दिया गया। इस दिन भारत तथा पाकिस्तान का भी विभाजन हुआ। उस दिन से हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पूरे देश में देश प्रेम और उल्लास की भावना से मनाया जाता है।


मुख्य समारोह

स्वतंत्रता दिवस के दिन देश की राजधानी दिल्ली में लाल किले में महान समारोह का आयोजन किया जाता है। इस समारोह का आरंभ शुभ शहनाई की धुन से होता है। इसके पश्चात देश के आदरणीय प्रधान मंत्री ध्वज आरोहण कर के लाल किले पर तिरंगा लहराते हैं और इक्कीस तोपों की सलामी दी जाती है। इस शुभ अवसर पर देश के आदरणीय राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री द्वारा देश वासियों को प्रेरणादायक भाषण दिया जाता है।

इस भाषण के पश्चात देश के सशस्त्र बल द्वारा परेड की जाती है और स्वतंत्रता संघर्ष की झलक एक नाटकी रूप में पेश की जाती है। समारोह में देश प्रेम और गर्व की भावना से देश भक्ति के गीतों का गायन होता है और निष्ठा पूर्वक देश का राष्ट्रीय गान जन गन मन भी गाया जाता है। संध्या के समय खूब उलास के साथ पटाखे चलाए जाते हैं। इस समारोह को देश भर में टेलीविज़न पर दिखाया जाता है।


आदरणीय प्रधान मंत्री का भाषण

लाल किले के मुख्य समारोह में देश के आदरणीय प्रधान मंत्री देश वासियों को भाषण देते हैं जिस में बीते हुए वर्ष कि देश की उपलब्धियों का विवरण किया जाता है। साथ ही साथ इस भाषण द्वारा प्रधानमंत्री जी देश वासियों को अन्य समाजिक समस्याओं के बारे में जागरूक करवाते हैं ओर उन्हें देश प्रेम की भावना को प्रज्वलित रखने के लिए प्रेरित करते हैं और भविष्य में विकास के मार्ग पर रोशनी डालते हैं।


विभिन्न राज्यों में समारोह

देश की राजधानी के समान भारत के सभी राज्यों में भी मुख्य समारोह का आयोजन किया जाता है जिसमें राज्यों के मुख्यमंत्री ध्वज्ज आरोहण करते हैं। तिरंगा लहराने के बाद परेड और विभिन्न मुकाबले करवाए जाते हैं। सन 1973 के पूर्व राज्यों में ध्वज आरोहण की गति विधि राज्य के राज्यपाल किया करते थे परन्तु उसके बाद से यह गति विधि राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा निभाई जाती है। 15 अगस्त को भारतीय डाक द्वारा स्वतंत्रता सेनानियों के मान में उनकी तस्वीरों वाली स्टांप बनाई जाती हैं।

Independence Day Essay in Hindi

शिक्षा संस्थानों में अनुष्ठान

देश भर के विद्यार्थियों एवम् कॉलेज तथा यूनिवर्सिटी में स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। ध्वज आरोहण किया जाता है तथा विद्यालों के विद्यार्थी परेड कर के राष्ट्रय धवज्ज को सलाम करते हैं। देश प्रेम से जुड़े विभिन्न मुकाबले करवाए जाते हैं और विद्यार्थी देश भक्ति से जुड़े गीतों का गायन करते हैं और नृत्य एवं नाटक पेश करते हैं।

विद्यार्थियों को स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में जानकारी दी जाती है और प्रश्नोत्तरी आयोजित की जाती है। विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम भी करवाए जाते हैं। विद्यार्थी तिरंगे के तीन रंगो के वस्त्र पहन कर विद्यालय का कर समारोह में भाग लेते हैं। विद्यार्थी भारत की विशाल संस्कृति पर कविताएं तथा पोस्टर बनाते हैं।


विदेशों में अनुष्ठान

भारत के अतिरिक्त विभिन्न अन्य देशों में भी स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है, खास कर जिन स्थलों में विभिन्न भारतीय लोग रहते हैं। कई देशों जैसे अमरीका में 15 अगस्त को ‘ इंडिया डे‘ के रूप में मनाया जाता है। वहा पर भी सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है और देश प्रेम की भावना से सब भारतीय गर्व से राष्ट्रीय गान का गायन करते हैं।


सारांश

स्वतंत्रता दिवस जैसे मुख्य राष्ट्रीय त्यौहार हमें भारतीय होने पर गर्व महसूस करवाते हैं तथा देश के हित एवं विकास के लिए कार्य करने के लिए प्रेरित करते हैं। देश भर में उत्सव का माहौल महान स्वतंत्रता सेनानियों को गर्व से याद कर के सदा के लिए अमर कर देता है।


इसके साथ ही हमारा आर्टिकल- Swatantrata Diwas par nibandh (Independence Day Essay in Hindi) समाप्त होता है। आशा करते हैं कि यह आपको पसंद आया होगा। ऐसे ही अन्य कई निबंध पढ़ने के लिए हमारे आर्टिकल – निबंध लेखन को चैक करें।

अन्य निबंध – Essay in Hindi

समय का सदपयोगरक्षाबंधन पर निबंध
अनुशासन का महत्व पर निबंधभ्रष्टाचार पर निबंध
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंधसंगति का असर पर निबंध
स्वच्छ भारत अभियान पर निबंधबेरोजगारी पर निबंध
मेरा प्रिय मित्रविज्ञान वरदान या अभिशाप
मेरा प्रिय खेलमेरे जीवन का लक्ष्य पर निबंध
मेरा भारत महानमेरी प्रिय पुस्तक पर निबंध
गाय पर निबंधसच्चे मित्र पर निबंध
दिवाली पर निबंधभारतीय संस्कृति पर निबंध
प्रदूषण पर निबंधआदर्श पड़ोसी पर निबंध
होली पर निबंधशिक्षा में खेलों का महत्व
दशहरा पर निबंधविद्या : एक सर्वोत्तम धन
गणतंत्र दिवसआदर्श विद्यार्थी पर निबंध
स्वतंत्रता दिवसदहेज प्रथा पर निबंध
मंहगाई पर निबंधअच्छे स्वास्थ्य पर निबंध
परोपकार पर निबंधरेडियो पर निबंध
वृक्षारोपण पर निबंधग्राम सुधार पर निबंध
समाचार पत्र पर निबंधपुस्तकालय पर निबंध
बसंत ऋतु पर निबंधप्रजातंत्र पर निबंध
टेलीविजन पर निबंधविद्यालय के वार्षिकोत्सव पर निबंध
महिला दिवस पर निबंध

निष्ठा विज

निष्ठा विज एक लेखिका है जो डिजिटल मार्केटिंग और फैशन से सम्बन्धित विषयों पर लिखने में अत्यंत आवेशपूर्ण है। वह एक छोटे शहर के व्यापारी परिवार से है और लेखन में ही अपना व्यवसाय बनाना चाहती है।

1 thought on “स्वतंत्रता दिवस पर निबंध – Independence Day Essay in Hindi”

Leave a Comment

You cannot copy content of this page.