Java Kya Hai?

इस article में हम Java के बारे में हम अध्ययन करने जा रहे हैं कि वास्तव में जावा क्या है। जाहिर है, हम जानते हैं कि यह एक Programming language है लेकिन यह अन्य भाषाओं से कैसे अलग है? हम यह जानने जा रहे हैं कि Java कैसे काम करती है, वास्तविक दुनिया में इसके प्रयोग और Java का इतिहास जानेंगे। तो चलिये शुरू करते है।

Java क्या है?

जावा एक object-oriented, cross-platform, multipurpose programming language है। यह एक सरल प्रोग्रामिंग भाषा है और इसमें में programs लिखना, compile और debug करना आसान है। चिंता न करें हम आपको इन सब terms को आगे के post में सिखाएंगे।

जावा का इतिहास 

जावा को जेम्स गॉस्लिंग द्वारा सन 1991 में Sun Microsystem में develop किया गया था। इसे अब Oracle Corporation द्वारा अधिग्रहित कर लिया गया है। जावा का पहला सार्वजनिक रूप 1995 में web technology बनने के उद्देश्य से जारी किया गया था। तब से, यह कंप्यूटर प्रोग्रामिंग की दुनिया में एक प्रमुख स्थान हासिल कर चुकी है।

जावा की विशेषताएं

जावा की कई प्रमुख विशेषताएं हैं जो प्रोग्रामिंग भाषाओं की दुनिया में इसे अद्वितीय बनाती हैं। ये हैं-

  • Platform Independent – जावा एक प्लेटफ़ॉर्म-स्वतंत्र भाषा है, जिसका अर्थ है कि इसे किसी भी Operating System पर चलाया जा सकता है, जिसमें Windows, Linux, Mac OS आदि शामिल हैं। क्योंकि इसे किसी भी प्लेटफॉर्म पर चलाया जा सकता है, इसलिए इसे cross-platform के रूप में जाना जाता है। एक बार जब जावा में लिखे code को byte-code में compile करके उसे किसी भी Java-supported प्लेटफॉर्म पर execute या run किया जा सकता है।

  • Object-oriented – जावा एक ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग language है। ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग में किसी भी प्रोग्राम को objects की मदद से बनाया जाता है। जैसेकि अगर हमे किसी hospital का software बनाना हो तो Java के इस program में हम doctors, patients, rooms, equipments के object बनाएंगे, जो आपस में interact यानि data exchange करेंगे और एक दूसरे के function call करेंगें। 

  • Simple – जावा एक बहुत ही simple भाषा है। इसमें c++ और बाकि programming languages जैसे Operator overloading, multiple inheritance, pointers आदि जैसी complex features नहीं है जो इसे इन भाषाओं की तुलना में बहुत सरल बनाती है।

  • Secure – Java से हम ऐसे softwares बना सकते हैं जो secure हों और जिनको hack करना आसान न हो। क्योंकि Java में pointers नहीं होते और Java में code को byte-code में compile किया जाता है जो एक virtual machine में चलता है नाकि सीधे उस मशीन में जिसपे वो program चलता है इसलिए Java में लिखे programs जायदा secure होते हैं।

  • High-performance – Java एक Just-In-Time (JIT) compiler use करता है। जिससे जावा के byte-code को execute किया जाता है machine code में। यह Java के programs की performance बढ़ाता है।

  • Multi-threading – जावा मल्टी-थ्रेडिंग को support करता है जिसका अर्थ है कि ऐसे प्रोग्राम लिखना संभव है जो एक साथ कई कार्य कर सकते हैं। यह एक महत्वपूर्ण विशेषता है जो CPU के maximum use करने में सक्षम करता है जिससे developers complex softwares बना सकते हैं जो smoothly चलते हैं। 

  • Open-source और free – जावा ओपन-सोर्स है जिसका मतलब है कि इसका source-code सार्वजनिक रूप से इंटरनेट पर उपलब्ध है और कोई भी इसे देख और संशोधित कर सकता है। साथ ही में इसे use करना भी बहुत आसान है। 

Java से क्या कर सकते हैं?

जावा को “प्रोग्रामिंग भाषाओं के राजा” के रूप में भी जाना जाता है। इसका उपयोग दुनिया के कई क्षेत्रों में किया जा रहा है जिसमें हमारे दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों में गेम खेलना या हमारे android smartphone का उपयोग करना शामिल है।

जावा का उपयोग विभिन्न डोमेन में देखा जा सकता है। उनमें से कुछ नीचे वर्णित हैं-

  • मोबाइल एप्लिकेशन (विशेषकर Android Apps)
  • Websites
  • Software Game
  • Computer Software Applications
  • Scientific Applications
  • Artificial Intelligence
  • Big-Data Technologies

Conclusion/सारांश

जावा इस समय में सबसे लोकप्रिय भाषाओं में से एक है। यह free, platform-independent, simple और open-source language है। इस article में हमने जावा, इसकी विषेशता और इसकी विभिन्न applications के बारे में जाना। आशा करता हूँ कि अब आप Java लैंग्वेज से भली-भांति परिचित हो गए होंगे।


Leave a Comment

You cannot copy content of this page.