Sher par Nibandh – Essay on Lion in Hindi

Sher par Nibandh

शेर को जंगल का राजा कहा जाता है। यह एक खूंखार जानवर होता है। यह बड़ी ही आसानी से अन्य जानवरों का शिकार कर लेता है। यह अधिकतर झुंड में रहते है क्योंकि झुंड में रहकर इनके लिए शिकार करना आसान हो जाता है। शेर हमें प्रायः जंगलों और चिड़ियाघरों में देखने को मिलता है।

ऐसे में आज हम स्कूली बच्चों को शेर के बारे में  जानकारी देने के लिए शेर पर निबंध लेकर आए हैं। जोकि उनको भी परीक्षा में शेर पर निबंध लिखने में सहायता प्रदान करेगा।


शेर पर निबंध

शेर एक शक्तिशाली जानवर होता है। जिसका मुख्य भोजन मांसाहार होता है। शेर की दो आंख, एक नाक, एक गर्दन और चार पैर होते है। और उसकी एक पूंछ भी होती है। इसके पंजे काफी नुकीलेदार होते हैं। जोकि इसे दौड़ने और शिकार करने में सहायता देते हैं।

शेर का शरीर भूरे रंग के बालों से ढका रहता है। और इनकी आंखें दूर से भी चमकती हैं। जिनकी मदद से यह रात में भी आसानी से शिकार कर सकते हैं। यह जंगल में अधिकतर झाड़ियों के पीछे छुपकर अपने शिकार पर हमला करता है। इसकी लंबाई 10 फीट और वजन लगभग 250 किलोग्राम होता है।

शेर करीब 80 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ते हैं। इनकी आयु 10-15 वर्ष होती है। भारत समेत पूरे विश्व में शेर की 12 प्रजातियां पाई जाती हैं। यह सर्वाधिक यूरोप, अफ्रीका, अरब और भारतीय जंगलों में पाया जाता है। इसके अलावा शेर जब दहाड़ता है तो उसकी दहाड़ 5 किलोमीटर दूर तक पहुंच सकती है।

और जब यह भूखे होते हैं तो 24 किलोमीटर तक चलने में सक्षम होते हैं। एक दिन में शेर करीब 20 घंटे सोता है। साथ ही यह भोजन में 50 मिनट खर्च कर देता है। शेर अपना शिकार अधिकतर शाम के समय ही करते हैं। यह बड़े स्तनधारी जीवों जैसे गेंडा, हाथी, नील गाय, बारहसिंगा, जेब्रा आदि को मुख्य रूप से अपना शिकार बनाता है।


शेर से जुड़े रोचक तथ्य

  1. प्राचीन समय में सबसे पहले तंजानिया के लटोली में शेर का जीवाश्म पाया गया था। और अब शेरों को धरती पर 60 साल से अधिक का समय हो गया है।

  2. एक शेरनी करीब 110 दिनों तक गर्भ धारण करती है। और यह 4 साल की उम्र से ही गर्भ धारण कर सकती हैं।

  3. अब तक सबसे अधिक वजन वाला शेर माउंट केन्या के पास पाया गया है। जिसका वजन लगभग 272 किलोग्राम है।

  4. शेर एक दिन में 40 से 60 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ते हैं। और लगभग दो घंटे तक बिना थके चल सकते हैं।

  5. जहां एक नर शेर को प्रतिदिन 7 किलोग्राम मांस की जरूरत पड़ती है तो वहीं मादा शेर को 5 किलोग्राम मांस की आवश्यकता होती है।

  6. भारत में 2018 में हुई जनगणना के आधार पर, शेरों की संख्या में काफी कमी आई है। अब वर्तमान में उनकी संख्या 523 रह गई है।

  7. शेर की पैंथर, लियो आदि कई प्रजातियां होती हैं। शेर को सिंह भी कहा जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम पैंथेरा लियो है।

  8. शेर को अल्बानिया, इथियोपिया, नीदरलैंड, लक्जमबर्ग, सिंगापुर, इंग्लैंड,बेल्जियम, बुल्गारिया आदि देशों का राष्ट्रीय पशु घोषित किया गया है।

  9. भारत में अधिक संख्या में शेर मुख्यता गुजरात के गिर जंगल और सुंदरबन में बंगाल के डेल्टा में पाए जाते हैं।

  10. शेर की पिंजरे में आयु 20-25 वर्ष और जंगल में 10-14 वर्ष ही रहती है।


शेर के प्रकार

सम्पूर्ण विश्व में मुख्यता दो प्रकार के शेर पाए जाते हैं। पहला एशियाटिक और दूसरा अफ्रीकन। इसके अलावा कहीं कहीं पर बब्बर शेर और आदमखोर शेर भी पाए जाते हैं। शेरों की 12 प्रजातियों में से वर्तमान में केवल 8 उपजातियां शेष बची है।

जोकि इस प्रकार है – पी एल परसिका, पी एल लियो, पी एल सेनेगलेनिन्स, पी एल आजान्दिका, पी एल नुबिका, पी एल मेलानो काईटा, पी एल क्रुजेरी दक्षिण पूर्वी अफ्रीकी सिंह, पी एल ब्लेयेनबर्घी आदि हैं।

इस प्रकार, हमारे उपरोक्त लेख (Sher par nibandh) के माध्यम से आपको शेर के बारे में आवश्यक जानकारी प्राप्त हुई होगी। ऐसे ही अन्य कई निबंध पढ़ने के लिए हमारा आर्टिकल – निबंध लेखन को चेक करें।


अंशिका जौहरी

मेरा नाम अंशिका जौहरी है और मैंने पत्रकारिता में स्नातकोत्तर किया है। मुझे सामाजिक चेतना से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से लिखना और बोलना पसंद है।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page.