Abdul Kalam Quotes in Hindi – एपीजे अब्दुल कलाम के विचार

APJ Abdul Kalam Quotes in Hindi

मिसाइल मैन के रूप में विख्यात एपीजे अब्दुल कलाम (15 अक्टूबर 1931- 27 जुलाई 2015) एक महान भारतीय वैज्ञानिक थे। जिन्होंने भारत को अंतरिक्ष के क्षेत्र में आगे ले जाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। इन्हें जनता का राष्ट्रपति भी कहा जाता है। क्योंकि इन्होंने जीवनपर्यंत देश की खुशहाली और विकास के लिए कार्य किया।

इनका पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुलअब्दीन अब्दुल कलाम था। हमें एपीजे अब्दुल कलाम के जीवन से काफी प्रेरणा मिलती है। क्योंकि वह ना केवल एक वैज्ञानिक थे। बल्कि वह एक प्रसिद्ध शिक्षाविद्, अध्यापक और अच्छे विचारों के धनी व्यक्ति भी थे।

इसलिए आज हम आपके लिए एपीजे अब्दुल कलाम द्वारा कहे गए अनमोल विचारों की श्रृंखला लेकर आए हैं। जिसे पढ़कर आप अवश्य ही अपने जीवन में सफलता हासिल करने के लिए प्रेरित होंगे।


Abdul Kalam Quotes in Hindi

1. व्यक्ति को जीवन में कभी हार नहीं माननी चाहिए। और ना ही कभी परेशानियों को खुद पर हावी होने देना चाहिए।

2. जब आप कठिनाई में हो, तब अपने अंदर छुपे हुए साहस और शक्ति को पहचानने की कोशिश अवश्य करें।

3. यदि कोई व्यक्ति अपने जीवन में महान् लक्ष्य बनाता है, ज्ञान हासिल करता है, कड़ी मेहनत करता है और उद्देश्य के प्रति दृढ़ रहता है। तो वह जीवन में कुछ भी प्राप्त कर सकता है।

4. सपनों को सच करने के लिए उन्हें देखना जरूरी होता है।

5. वर्तमान पीढ़ी को त्याग करना होगा तभी आने वाली पीढ़ी समृद्धशाली बन पाएगी।

6. आरंभिक शिक्षा ही बच्चों में सकारात्मक ऊर्जा का विकास करती है।

7. किसी कार्य में निपुणता हासिल करना एक सतत प्रक्रिया है। जिसे घटना मात्र से व्यक्त नहीं किया जा सकता है।

8. यदि आप अपने कार्य में सफल होना चाहते हैं तो एकाग्रचित होकर कार्य करें।

9. युवा पीढ़ी यदि अलग तरीके से सोचती है, कुछ नया करने की कोशिश करती है, अपने लिए रास्तों का निर्माण स्वयं करती है, तो वह असंभव चीज़ों को भी हासिल कर लेती है।

10. जो लोग सपने देखते हैं, वह अकेले नहीं होते हैं। क्योंकि मेहनत करने वालों के साथ सम्पूर्ण ब्रह्मांड होता है।

11. कोई देश जो भ्रष्टाचार से मुक्त हो और वहां सब शुद्ध मानसिकता वाले लोग हो। तो ऐसे देश का निर्माण केवल माता, पिता और गुरु ही कर सकते हैं।

12. सोते समय आप जो सपने देखते हैं, वह सपने नहीं होते है। बल्कि सपने वह होते हैं जो आपको सोने नहीं देते हैं।

13. शिक्षा के माध्यम से ही किसी व्यक्ति के चरित्र, क्षमता और भविष्य को आकार मिलता है। और यदि लोग मुझे एक शिक्षक के रूप में जीवन भर याद करेंगे तो यह मेरे जीवन का सबसे बड़ा सम्मान होगा।

14. जब तक आप असफलता का स्वाद नहीं चखते हैं, तब तक आप सफलता के लिए अधिक महत्वाकांक्षा नहीं रख सकते हैं।

15. यदि आप सूरज की भांति चमकना चाहते हैं तो आपको सूरज की तरह जलना होगा।

16. विज्ञान मानव जीवन के लिए एक खूबसूरत तोहफा है। हमें इसे बिगाड़ना नहीं चाहिए।

17. जीवन में छोटा लक्ष्य रखना एक अपराध की तरह होता है।

18. मैं सदैव ही इस बात को स्वीकार करता था कि कुछ चीज़ों को मैं कभी नहीं बदल सकता।

19. इंसान को कृत्रिम सुख की बजाय ठोस उपलब्धियों को पाने का प्रयास करना चाहिए।

20. व्यक्ति को आत्म सम्मान की अनुभूति आत्मनिर्भरता के साथ ही होती है।

21. व्यक्ति को अपने मिशन में सफल होने के लिए रचनात्मक नेतृत्व की आवश्यकता पड़ती है।

22. बतौर राष्ट्रपति मेरे पास जो सबसे कठिन कार्य था। वह अदालतों द्वारा दिए गए मृत्यु दंड की पुष्टि करना।

23. जो लोग अपने कार्य को मन से नहीं करते हैं लेकिन उन्हें सफलता मिलती है। तो उस अधूरी और खोखली सफलता की कड़वाहट उन्हें सदा ही महसूस होती है।

24. भारत जब तक दुनिया के सामने खड़ा नहीं होता है। तब तक कोई उसकी इज्जत नहीं करेगा। क्योंकि ताकत को ताकत के द्वारा ही सम्मान मिलता है।

25. युवा पीढ़ी को जॉब ढूंढने से जॉब देने वाला बनाने के लिए उन्हें सक्षम बनाना जरूरी है।

26. इस संसार में महान शिक्षक ज्ञान, जुनून और करुणा से तैयार होते हैं।

27. यदि आप पूर्ण रूप से स्वतंत्र नहीं हैं। तो कोई भी आपका आदर नहीं करेगा।

28. जीवन के इस कठिन खेल को आप एक व्यक्ति होने के जन्मसिद्ध अधिकार के माध्यम से ही खेल सकते हैं।

29. एक विद्यार्थी का सबसे बड़ा गुण होता है। प्रश्न पूछना। जिसके लिए उसे सदैव प्रेरित किया जाना चाहिए।

30. भारत वर्ष के लगभग 18 मिलियन युवाओं से मैं मिला हूं। जो सब अपने जीवन में कुछ अलग करना चाहता है।

31. मेरे जीवन में नकारात्मक अनुभव जैसा कुछ नहीं है।

32. जब आपके सिग्नेचर ऑटोग्राफ में बदल जाते हैं, तब आप जीवन में सफल हो जाते हैं।

33. जब हृदय में सच्चाई मौजूद होती है। तब घर में सामंजस्य स्थापित होता है। और जब घर में सामंजस्य होता है तब देश में व्यवस्था स्थापित होता है। और तभी शांति बनी रहती है।

34. व्यक्ति छोटी आयु में अधिक आशावादी, कल्पनाशील और पूर्वाग्रहों से मुक्त होता है।

35. सफल होने के लिए युवाओं को अपनी सोचने की क्षमता को अलग रखना चाहिए। आविष्कार करने चाहिए, बिना देखे रास्तों पर चलने का साहस होना चाहिए। यह युवाओं को मेरा संदेश है।

36. मेरे लिए दो तरह के लोग जरूरी है, एक युवा दूसरे अनुभवी।

37. शिक्षा का मुख्य उद्देश्य कौशल और विशेषज्ञता के साथ लोगों को अच्छा बनाना है। यह कार्य शिक्षकों द्वारा बखूबी किया जा सकता है।

38. सम्पूर्ण राष्ट्र लोगों से मिलकर निर्मित होता है। और उन्हीं के प्रयासों से राष्ट्र जो चाहता है, उसे प्राप्त कर लेता है।

39. साल 2020 के लिए मेरा उद्देश्य है, भारत को विकसित बनाना। यह भावात्मक नहीं मेरी जीवन रेखा हो सकती है।

40. जब मनुष्य के भीतर क्षमता का निर्माण होता है, तब असमानताएं समाप्त हो जाती हैं।

41. राष्ट्रपति बनने के पश्चात् मुझे महसूस हुआ कि देश के विजन को बनाने के लिए राष्ट्रपति को कोई नहीं रोक सकता। उसके विचारों का सभी पार्टी के लोग सम्मान करते हैं।

42. मैं एक वंचित परिवार से ताल्लुक रखता हूं, लेकिन मुझे सदा ही महान शिक्षकों के सानिध्य में रहने का लाभ मिला।

43. मैं पायलट से अधिक कुछ नहीं बनना चाहता था, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।

44. जिन लोगों के पास इग्नाइटेड मस्तिष्क है, उनके खिलाफ कोई नहीं खड़ा हो सकता है।

45. व्यक्ति की परेशानियां समान होती हैं। लेकिन उनका उसे देखने का नजरिया अलग होता है।

46. असली शिक्षा वहीं है जो किसी व्यक्ति की गरिमा को बढ़ाती है और उसके स्वाभिमान में वृद्धि करती है।

47. एक लीडर वह व्यक्ति होता है। जिसके पास विजन और पैशन होता है। साथ ही वह ईमानदार भी होता है।

48. आप अपना भविष्य नहीं बदल सकते हैं। लेकिन अपनी आदतें जरूर बदल सकते हैं। एक दिन आपकी आदतें ही आपका भविष्य बदल देती हैं।

49. सम्पूर्ण समाज से भ्रष्टचार  को तभी समाप्त किया जा सकता है। जब प्रत्येक व्यक्ति समाज को मैं क्या दे सकता हूं, इस भावना से कार्य करें।

50. शिक्षकों को बच्चों के मध्य जांच की भावना, नैतिक क्षमता, उद्यमशीलता, रचनात्मकता का निर्माण कर उनका रोल मॉडल बनना होगा।

इस प्रकार, हम उम्मीद करते हैं कि आप एपीजे अब्दुल कलाम के विचारों को पढ़कर अवश्य ही प्रेरित हुए होंगे। इसी प्रकार से प्रेरणादाई विचारों को पढ़ने के लिए Gurukul99 पर आना ना भूलें।


अंशिका जौहरी

मेरा नाम अंशिका जौहरी है और मैंने पत्रकारिता में स्नातकोत्तर किया है। मुझे सामाजिक चेतना से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से लिखना और बोलना पसंद है।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page.