Blogging Kya Hai?

स्वागत है आपका हमारे फ्री ब्लॉगिंग कोर्स के पहले tutorial में जिसमे हम ब्लॉग, ब्लॉगिंग और ब्लॉगर क्या होता है, यह जानेंगे। साथ ही हम एक blog और website में क्या अंतर है, यह भी जानेंगे। इस पूरे article को पढ़ने के बाद आपको ब्लॉगिंग को full-time या part-time करियर choose करने में आसानी होगी। तो आइये ब्लॉगिंग से जुड़ी हर जानकारी को विस्तार से जाने।

Blog kya hota hai?

‘Blog’ शब्द दो शब्दों को मिलाके बनाया गया है – ‘web + log’, जिसका हिंदी में अर्थ होता है – “ऐसी वेबसाइट जिसमे किसी खास तरह के विषय पे नियमित रूप से लिखा जा रहा हो”। एक ब्लॉग किसी भी विषय पे बनाया जा सकता है – personal, political, education, sports इत्यादि।

किसी ब्लॉग के एक article को blog post या सिर्फ post कहते हैं। एक पोस्ट नीचे दी गयी चीज़ों से बनता है-

Post image Gurukul99

1. Content area – कॉन्टेंट एरिया ब्लॉग का सबसे अहम हिस्सा होता है इसमें author अपने users या readers से information share करता है। 

2. Header – हैडर में ब्लॉग के नाम के अलावा एक menu होता है जिससे users अलग-अलग categories या pages पे जा सकते हैं।

3. Sidebar – ब्लोग्स में साइडबार optional होता है। इसमें अलग-अलग widgets होते हैं जैसे सबसे latest post दिखाने वाला widget, Facebook, Instagram जैसे Social sites के widgets इत्यादि।

4. Footer – फुटर वह section है जिसमे हम कुछ static pages के links डालते हैं जैसे की – About us पेज (Author या company के बारे में information वाला page), Contact us पेज (जिसमे author से contact करने की information दी गई हो), इत्यादि।

आमतौर पर एक ब्लॉग में कई सारे post होते हैं जो कि reverse order में दिखाए जाते हैं यानि कि सबसे नया पोस्ट सबसे पहले दिखाया जाता है। इस प्रकार से ब्लॉग कुछ इस तरह का दिखता है-

blog Gurukul99

User किसी भी पोस्ट के लिंक को click करके उस पोस्ट पे जा सकता है।


तो अभी तक हमने जाना कि ब्लॉग क्या होता है और इसमे कौन-कौन से sections होते हैं। अब देखते हैं कि ब्लॉग्गिंग और ब्लॉगर किसे कहते हैं।

Blogging क्या है?

किसी विषय पे blog बनाने और उसे नियमित रूप से चलाने की प्रक्रिया को Blogging कहते हैं।

ब्लॉगिंग के लिए आपको किसी विषय के बारे में जानकारी होनी चाहिए। साथ ही में आपको एक ब्लॉग setup करना और उसे Promote करना भी आना चाहिए।

Blogger किसे कहते हैं?

जो व्यक्ति ब्लॉग बनाये और उसे नियमित रूप से maintain करे उसे ब्लॉगर कहते हैं।

आज के समय में सिर्फ ब्लॉग के विषय का जानकार होना काफी नहीं होता। ब्लॉग लिखने के साथ उससे Google जैसे search-engines पर रैंक करवाना और facebook जैसे social media पर promote कराना भी आना चाहिए। इसलिए एक ब्लॉगर को अब topic की knowledge, writing skills, Search Engine Optimisation (जिसके बारे में हम आगे के course में सीखेंगे) और Social Media Marketing के skills भी आने चाहिए।

Blog और website में क्या अंतर होता है?

वैसे तो technically website और blog same ही होते हैं, एक blog को website का ही type मान सकते हैं, लेकिन इनमे थोड़ा logical difference होता है, आइये इसे समझें-

  • एक website आमतौर पर static होती है यानि कि website का content बार बार change नहीं किया जाता। उदाहरण के लिए Paytm, Amazon, Google.com etc। जबकि एक blog में नियमित रूप से नया content डाला जाता है, जैसे कि Gurukul99 में नियमित रूप से आपके लिए कंटेंट डाला जाता है।
  • ज्यादातर websites का content काफी formal tone में होता है, साथ ही वेबसाइट का पूरा structure formal होता है। जबकि एक blog में blogger informally अपनी बात को आगे रख सकता है जैसे इस ब्लॉग पोस्ट में मैं आपसे informally communicate कर रहा हूँ।
  • Websites में information के अलावा कुछ और functionalities भी होती हैं जैसे की Paytm में आप कुछ खरीद भी सकते हो लेकिन एक ब्लॉग का main purpose information share करना ही होता है।

तो इसी के साथ हमारा पहला tutorial समाप्त होता है। उम्मीद है आपको ब्लॉग और ब्लॉग्गिंग से जुड़े सवालों का जवाब मिल गया हो। अगर इस पोस्ट से related किसी topic में आपका अभी भी कोई सवाल है तो आप comment कर सकते हैं। मैं जल्द से जल्द उन्हें answer करने का try करूँगा।


1 thought on “Blogging Kya Hai?”

Leave a Comment

You cannot copy content of this page.